एक राजा और सात रानियाँ की कहानी बच्चो के लिए

एक राजा और सात रानियाँ

एक राजा और सात रानियाँ की कहानी

 

ये कहानी एक राजा और सात रानियों कि है। एक राज्य  में एक राजा और उनकी सात पत्नि थी। उनलोगो को किसी भी चीज़ की कमी मेहसूस नहीं थी बस एक ही चीज़ की कमी थी उन सभी सातो रानियों का एक भी बच्चे नहीं थे इसलिए उसे बच्चे की कमी महसूस होती  थी। लेकिन उन में से  छः रानियाँ काफी सुंदर थी और अपनी सुंदरता पर घमंड करती थी और सबसे छोटी वाली रानी दिखने में काली और सुशील थी और घर के कामों में लगी रहती।

 एक दिन राजा ने शिकार के लिए घने जंगल की ओर निकला और उदास होकर एक पेड़ के नीचे बैठ गया कुछ समय बाद  वहाँ एक साधु आ पहुँचा और कहा तुम इतने उदास कियो हो पुत्र राजा ने सारी बाते उस साधु को बताई इतना सुनते ही उसने पेड़ से आम तोड़ कर राजा के हाथ में देते हुए कहाँ अपनी सातो पत्नी को आपस में बाट कर खा ले राजा ने इतना सुनते ही घर आ पहुँचा और छः रानियों के हाथो में दिया।

 छः घमंडी रानियों ने आपस में बाट कर खा ली और छोटी रानी को इस बात का पता भी नहीं चला कुछ देर बाद उसे आम का छिलका नीचे पड़ा मिला छोटी रानी ने उसे उठा कर खा ली कुछ महीनो बाद वह गर्ववती हो गई कुछ दिनों बाद वह एक लड़का और एक लड़की को जन्म दी ये देख कर छः रानियाँ को जालन होने लगी और उनके बच्चो को उनलोगो ने छिपा दी राजा जब शिकार कर के वापस घर आया तो छः रानियों ने बताई इसने कोई बच्चे का जन्म नहीं दी है।

कई वर्ष बीत गये बच्चो को माँ से अलग हुए अब वो काफी बड़े हो गये थे और बिलकुल अपने माँ बाप जैसे दिखते थे। काफी समय बीतता गया एक दिन बच्चे ने खेलते हुए अपने माँ बाप के पास आ पहुँचा वो बिल्कुल अपने माँ बाप के जैसा दिखते थे। ये देखकर छः रानियाँ ने सारी सच्चाई राजा और रानी को बताई दी राजा ने उन दोनों बच्चो को गले से लगाकर उन्हें अपने पास रख लिया और छः रानियों को घर से बाहर निकाल दिया गया। राजा और रानी खुशी -खुशी रहने लगे।

Story 2

एक गांव में एक राजा रहता था उस राजा के पांच बेटी थी। पांच में चार गोरी और एक काली थी उन चारो को अपने रूप पर बड़ा घमंड था। एक दिन उनके पिता जी ने उन पाँचो बहनो से उनकी सदी की बात की उनमे से चार बहुत खुस हो गई और एक बहुत ही दुखी थी, चार इस लिए खुस थे की उसकी सादी एक अच्छे राज कुमारो के साथ होगी और एक इस लिए दुखी थी की हम जैसी काली लड़की के साथ कौन राज कुमार सादी करेगा। उन पाँचो बहनो का सोयंबर रखा गया वहाँ दूर दूर से राज कुमार आए और चारो बहनो के लिए चार राज कुमार हो गए उन में से एक बची थी जो काली थी। तभी एक आदमी आया जो फटी हुई कपडे और बहुत ही बदबू दे रहा था तभी उन चारो बहनो की नजर उस आदमी पर पड़ा और वह कहने लगे ये लो तुम्हरा राज कुमार आ गया यह सुन कर उसे बहुत दुखी हुई पर वह उसे स्वीकार कर ली। और पांचो बहनो की सादी हो गई सादी होने के बाद राजा ने यह यादेस अपने बेटियों और उनके पतियों को दिया की जो राज कुमार सबसे जायदा पछी और जानवर का शिकार कर के लाएगा उसे में राजा घोषित कर दूगा। यह सुन कर सभी राज कुमार शिकार करने के लिए निकल गए सभी राज कुमार

 

9 thoughts on “एक राजा और सात रानियाँ की कहानी बच्चो के लिए

    • May 2, 2021 at 5:07 am
      Permalink

      Thanks. I love your comment .You have reached exactly the right place. Here you will get what you want.

      Reply
  • November 30, 2021 at 10:21 pm
    Permalink

    Genuinely pleasant weblog. I must point out that you will be extremely sharp in producing on all subjects. You might have described each of the expected aspects in the picked subject matter. I like the signifies you develop it and also it’s a lovable working experience examining every one of the sentences. Lots of thanks for sharing your ideas and make sure to compose on distinctive topics to make sure that we maintain savoring your weblog internet sites. To be a Web page author, I also compose weblogs on trendy topics. My current blog site is about the most recent model of Medical Experienced Standing by. See to it to evaluation it and talk about it to inform me relating to your Assessment encounter.

    Reply
  • February 22, 2022 at 6:58 am
    Permalink

    You will be so exciting! I don’t suppose I’ve really study as a result of something like that prior to. So nice to find A different individual with a few exclusive views on this subject matter. Actually.. thanks for starting this up. This web site is something that is needed over the internet, somebody with some originality!

    Reply
  • March 10, 2022 at 5:26 pm
    Permalink

    Place on with this write-up, I severely think this Internet site needs an awesome offer a lot more notice. I?l likely be back again all over again to browse through much more, many thanks for the data!

    Reply
  • March 12, 2022 at 9:27 am
    Permalink

    Greetings! Quite handy assistance On this specific posting! It’s the minimal modifications that will make the best adjustments. A lot of many thanks for sharing!

    Reply
  • April 16, 2022 at 5:11 am
    Permalink

    Many thanks with the marvelous publishing! I quite relished looking through it, you generally is a great writer.I’ll be sure to bookmark your website and can at some point return sooner or later. I desire to motivate which you continue your wonderful posts, Have got a wonderful weekend!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *