Raksha Bandhan रक्षा बंधन एक पवित्र त्यौहार –

Read this essay Raksha Bandhan

Raksha Bandhan

यह हिन्दू धर्म  की  भाई -बहन के लिए बहुत ही शुभ और भावनात्मक त्यौहार है।  इस वर्ष 2020  में यह बहुत ही पवित्र दिन पर हो रहा है।  सावन के आखरी सोमवार को ही सावन के पूर्णिमा के साथ यह त्यौहार भी है।

 

Raksha Bandhan -03 अगस्त 2020, दिन सोमवार , को भाई – बहन की एक अटूट रिस्ता के साथ भावनात्मक रूपों से एक दूसरे को जोड़ने वाला यह त्यौहार सचमुच ही मन को विभोर  देती  है।   बहन को   इस त्यौहार का इंतजार होती , और इस दिन वह काफी उत्साहित होती है।  हर बहन अपनी सुरक्षा की चाहत के साथ – साथ अपने भाई के सफलता की ज्योत में जगाती है।

ऐसे तो हर त्यौहार का कुछ न कुछ खास विशेषता होती है , इस त्यौहार का भी अफनी  विशेषता है। ऐसा मना जाता रहा है की बहन के द्वारा बंधी गयी इस पवित्र डोर जो भाई के कलाई में बंधी होती है।  यह सिर्फ डोर मात्रा नहीं होती है, यह दोनों के पवित्र रिश्ते को मजबूत बनायीं रखती है और हर मुस्किलो में एक सुरक्षा कवच के रूप में होती है। इसीलिए इसको रक्षा बंधन के नाम से जाना जाता है। 

रक्षा बंधन का त्यौहार पुरे भारत में बहुत ही हर्षोउल्लास के साथ मनाई जाती है।  इस दिन हर बहन सुबह जल्दी उठ कर इसकी व्य्वश्था में लग जाती है सबसे पहले वे नहाती है और अपने भाई के लिए अपनी पसंद की राखी और मिठाई की खरीदारी कर लाती है। जब भी भी नहा कर बहन के पास राखी बंधवाने जातें है तब बहन और भाई डॉन के मुख पर ख़ुशी के मुस्कान बिखरे होते है   , इस दिन का  इंतजार न सिर्फ बहन किया करती है बल्कि हर भाई भी बहुत ही बेसब्री से इस पल का इंतजार किया करते है। तो फिर भाई के आने के बाद बहन एक थाली में सब कुछ सजा कर जैसे तिलक, आरती ,मिठाई, और राखी को लेकर  भाई के पास आती है।  भाई को एक आसान पर बिठा कर सबसे पहले उनकी माथे में तिलक करती फिर उनकी आरती उतर कर मिठाई से मुँह मीठा करती है।  फिर भाई के कलाई में राखी के डोर को बांधती है। 

इन सब क्षणों को आनंदित हो भाई भी अपने प्यारी बहन के लिए कुछ न कुछ उपहार को देने से नहीं रोल पातें हैं।  इस उपहार से साथ – साथ भाई बहन के हर दुखो में डट कर सामना करने की बात कहे बिना रोक नहीं पाते , और जीवन भर यह भाई- बहन की यह अटूट बंधन बांध है। इस दिन वे बहन जिनकी विवाह हो चुकी होती है वे अपने अपने भाई को राखी बांधने के लिए अपनी मायके जाती है। और भाई  भी अपनी  बहन के पास आतें  है।

Raksha Bandhan बहुत ही आनंदमय पल होता है जो  बहुत सी खुशियों और रिश्तों को समेटे होती है। 

See also

3 thoughts on “Raksha Bandhan रक्षा बंधन एक पवित्र त्यौहार –

  • June 21, 2021 at 12:18 pm
    Permalink

    Do you have a spam issue on this site; I also am a blogger, and
    I was curious about your situation; we have created some
    nice procedures and we are looking to exchange techniques
    with other folks, why not shoot me an e-mail if interested.

    Reply
  • February 8, 2022 at 10:34 pm
    Permalink

    Hey there just desired to give you A fast heads up. The textual content within your articles seem to be functioning from the display screen in Opera. I’m not sure if this is a format situation or one thing to perform with browser compatibility but I figured I’d publish to Allow you already know. The format glance fantastic however! Hope you obtain the challenge set shortly. Many thanks

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.