Ram राम -भगवान राम न सिर्फ भारत के बल्कि पुरे विशव के

Read this Ram राम -भगवान

अगर भारत की बात की जाय तो यह हमेशा से देवी -देवतावो का भूमि रही है।  यंहा जन्में हर लोग अपने आप को पुण्य मानता है।  और यह सच भी है की यह भूमि भगवन की प्रिय भूमि रही है।  यह बात न सिर्फ किसी एक बल्कि किसी भी धर्म को जोड़ कर देखा जय तो यह बिलकुल सही साबित होती है।

loard ram

परिचय

राम यह कोई साधारण नाम नहीं है। भगवान राम न सिर्फ भारत के बल्कि पुरे विशव के एक मात्र महान और सरोत्तम महा पुरसोतम हुवे हैं।  भगवन राम विष्णु के अवतार हैं जो धरती पर राजा दशरथ और कौशल्या के पुत्र के रूप में जन्म लिए। भगवन राम अपने चारो भैइयो में से सबसे बड़े एवं आदर्श थें। 

Ram राम -भगवान

राजा दसरथ की तीन रानियां थीं।  तीनो रानियों से उन्हें चार पुत्र प्राप्त हुए।  उनमे राम सबसे बड़े ,इनसे छोटे भरत , और इनसे छोटे सत्रुधन तथा सबसे छोटे लक्षमण हुए। इन चारो भाईयो का जन्म आज के भारत देश के उतर प्रदेश के अयोद्धया  नमक स्थान में हुवा। चारो भाईयो में आपस में काफी प्यार ,त्याग ,बलिदान  और भाईचारा थें।

इनकी जीवन

भगवन राम की जीवन यापन बहुत ही साधारण एवं आकर्षक थें।  इनकी शिक्षा पूरी होने के बाद इनका विवाह उस समय के जनक पुर के राजा जनक की पुत्री सीता जो माँ लक्ष्मी की अवतार थे  के साथ हुवे ।

इन्होने माँ सीता और लक्ष्मण समेत 14  वर्षो का वनवास काटें थेइनको पुरसोतम क्यों कहा जाता है।

भगवन राम इस धरती पर एक ऐसे पुरुष हउवें जो मानव रूप में मानव की हर मर्यादा को भली भाती पालन किये जो अत्यंत ही कठिन है।

एक पुरुष की जो कर्तब्य है चाहे वह भाई , बेटा , पति, ……..  या फिर राजा की हर जीवन को उत्तम रूपों से निभाएं हैं। 

ये परुषो में सर्वोत्तम रहे, है, और रहेंगे।

Read also

4 thoughts on “Ram राम -भगवान राम न सिर्फ भारत के बल्कि पुरे विशव के

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *