essayGKKnowSTUDY

Republic day speech in english and Hindi

Republic day speech
Republic day speech

Republic Speech

Speech 1

Ladies and gentlemen, teachers and dear friends,

Today, we gather with joy and pride to celebrate Republic Day, a special day for our incredible country, India. On this day, we remember the moment when our Constitution came into effect, giving us the power to govern ourselves.

India is like a colorful garden with people from different backgrounds, languages, and cultures. Republic Day reminds us that we are all equal and have the right to express ourselves freely.

As little citizens of this great nation, let us promise to be good friends to each other, share our toys and love our country. Just like the colors of the flag – saffron, white, and green – symbolize courage, peace, and growth, let’s grow together in harmony.

Our leaders worked hard to make India a republic, a place where everyone has a say. So, let’s listen to each other, learn from one another, and make our country proud.

Happy Republic Day, everyone! Jai Hind!

Speech 2देवियो और सज्जनो, शिक्षकों और प्रिय मित्रों, आज, हम खुशी और गर्व के साथ गणतंत्र दिवस मनाने के लिए एकत्र हुए हैं, जो हमारे अविश्वसनीय देश, भारत के लिए एक विशेष दिन है। इस दिन, हम उस क्षण को याद करते हैं जब हमारा संविधान लागू हुआ, जिससे हमें खुद पर शासन करने की शक्ति मिली। भारत एक रंगीन बगीचे की तरह है जहां विभिन्न पृष्ठभूमि, भाषा और संस्कृति के लोग रहते हैं। गणतंत्र दिवस हमें याद दिलाता है कि हम सभी समान हैं और हमें अपनी बात स्वतंत्र रूप से व्यक्त करने का अधिकार है। इस महान राष्ट्र के छोटे नागरिक के रूप में, आइए हम एक-दूसरे के अच्छे दोस्त बनने, अपने खिलौने साझा करने और अपने देश से प्यार करने का वादा करें। झंडे के रंगों की तरह – केसरिया, सफेद और हरा – साहस, शांति और विकास का प्रतीक हैं, आइए सद्भाव में एक साथ बढ़ें। हमारे नेताओं ने भारत को एक गणतंत्र, एक ऐसा स्थान बनाने के लिए कड़ी मेहनत की जहां हर किसी को अपनी बात कहने का अधिकार हो। तो, आइए एक-दूसरे की बात सुनें, एक-दूसरे से सीखें और अपने देश को गौरवान्वित करें। सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ! जय हिन्द!

 

Speech 3

Republic day speech
Republic day speech

Ladies and gentlemen, esteemed teachers, and dear friends,

Good morning! Today, we gather here to celebrate a special day, a day that fills our hearts with pride and joy – Republic Day! On this day, 26th January, our incredible country, India, became a sovereign republic, and we honor this momentous occasion with love and respect.

Our tricolor flag, with saffron, white, and green, stands tall, symbolizing the courage, peace, and prosperity of our nation. Let us remember the sacrifices of our brave freedom fighters who dreamed of an independent India.

As young citizens, we play a vital role in shaping the future of our great nation. Let us pledge to be responsible, kind, and respectful to one another. Just like the diverse flowers in a garden, we are all unique, and together we make our country beautiful and strong.

On Republic Day, we celebrate unity in diversity. Let’s appreciate the rich tapestry of cultures, languages, and traditions that make India extraordinary. As we sing our national anthem, let our voices echo with pride, filling the air with love for our beloved country.

In our classrooms and homes, let’s spread the spirit of harmony and understanding. As we grow, let us strive to make India a better place for everyone. Happy Republic Day to all my fellow classmates! Jai Hind!

Speech 4

देवियो और सज्जनो, सम्मानित शिक्षक, और प्रिय मित्रो, शुभ प्रभात! आज, हम यहां एक विशेष दिन मनाने के लिए एकत्र हुए हैं, एक ऐसा दिन जो हमारे दिलों को गर्व और खुशी से भर देता है – गणतंत्र दिवस! इस दिन, 26 जनवरी को, हमारा अविश्वसनीय देश, भारत, एक संप्रभु गणराज्य बन गया, और हम इस महत्वपूर्ण अवसर का प्यार और सम्मान के साथ सम्मान करते हैं। केसरिया, सफेद और हरे रंग वाला हमारा तिरंगा झंडा ऊंचा खड़ा है, जो हमारे राष्ट्र के साहस, शांति और समृद्धि का प्रतीक है। आइए हम अपने बहादुर स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को याद करें जिन्होंने स्वतंत्र भारत का सपना देखा था। युवा नागरिकों के रूप में, हम अपने महान राष्ट्र के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आइए हम एक-दूसरे के प्रति जिम्मेदार, दयालु और सम्मानजनक होने की प्रतिज्ञा करें। एक बगीचे में विविध फूलों की तरह, हम सभी अद्वितीय हैं, और हम मिलकर अपने देश को सुंदर और मजबूत बनाते हैं। गणतंत्र दिवस पर हम विविधता में एकता का जश्न मनाते हैं। आइए संस्कृतियों, भाषाओं और परंपराओं की समृद्ध टेपेस्ट्री की सराहना करें जो भारत को असाधारण बनाती हैं। जैसे ही हम अपना राष्ट्रगान गाते हैं, हमारी आवाज़ें गर्व से गूँजती हैं, हवा को अपने प्यारे देश के लिए प्यार से भर देती हैं। आइए अपनी कक्षाओं और घरों में सद्भाव और समझ की भावना फैलाएं। जैसे-जैसे हम बढ़ते हैं, आइए हम भारत को सभी के लिए एक बेहतर स्थान बनाने का प्रयास करें। मेरे सभी साथी सहपाठियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ! जय हिन्द!

 

Speech 5

Ladies and gentlemen,

Good [morning/afternoon/evening],

Today, we gather here to celebrate a momentous occasion that resonates with the spirit of a nation, the Republic Day of India. On this day, 26th January, we commemorate the historic moment when the Constitution of India came into effect in 1950, marking the transformation of our country into a sovereign, socialist, secular, and democratic republic.

As we unfurl the tricolor and sing the national anthem, let us reflect on the principles and values that our forefathers envisioned for this great nation. The Constitution of India, a visionary document crafted by Dr. B.R. Ambedkar and his team, is a testament to our commitment to justice, liberty, equality, and fraternity.

Republic Day is not merely a day of grand parades and patriotic fervor; it is a day to honor the sacrifices made by countless individuals who fought for our freedom and shaped the destiny of a diverse and vibrant nation. It is a day to acknowledge the resilience of a nation that has overcome challenges and adversities, emerging stronger each time.

Today, as we witness the parade showcasing the might of our armed forces, the cultural diversity of our states, and the achievements of our citizens, let us remember that the true strength of our republic lies in the unity of its people. Our diversity is not a weakness; it is our greatest asset. The harmonious coexistence of various cultures, languages, and traditions is what makes India unique and resilient.

As we celebrate the progress and development of our nation, let us also be mindful of the challenges that lie ahead. It is our collective responsibility to ensure that the principles enshrined in our Constitution are upheld, and the ideals of justice, liberty, equality, and fraternity are not mere words but lived realities for every citizen.

On this Republic Day, let us rekindle the flame of patriotism in our hearts, renew our commitment to the ideals of our Constitution, and strive to build a nation where every individual can live with dignity, freedom, and equal opportunities.

Jai Hind!

Speech 6

देवियो और सज्जनों,

शुभ [सुबह/दोपहर/शाम],

आज, हम यहां एक महत्वपूर्ण अवसर, भारत के गणतंत्र दिवस, का जश्न मनाने के लिए एकत्र हुए हैं जो एक राष्ट्र की भावना से प्रतिध्वनित होता है। इस दिन, 26 जनवरी को, हम उस ऐतिहासिक क्षण को याद करते हैं जब 1950 में भारत का संविधान लागू हुआ था, जो हमारे देश को एक संप्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक गणराज्य में बदलने का प्रतीक था।

जैसे ही हम तिरंगा फहराते हैं और राष्ट्रगान गाते हैं, आइए हम उन सिद्धांतों और मूल्यों पर विचार करें जिनकी हमारे पूर्वजों ने इस महान राष्ट्र के लिए कल्पना की थी। भारत का संविधान, डॉ. बी.आर. द्वारा तैयार किया गया एक दूरदर्शी दस्तावेज़ है। अम्बेडकर और उनकी टीम, न्याय, स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।

गणतंत्र दिवस केवल भव्य परेड और देशभक्ति के उत्साह का दिन नहीं है; यह उन अनगिनत व्यक्तियों के बलिदान का सम्मान करने का दिन है जिन्होंने हमारी आजादी के लिए लड़ाई लड़ी और एक विविध और जीवंत राष्ट्र की नियति को आकार दिया। यह एक ऐसे राष्ट्र के लचीलेपन को स्वीकार करने का दिन है जिसने चुनौतियों और प्रतिकूलताओं पर काबू पाया है और हर बार मजबूत बनकर उभरा है।

आज, जब हम अपने सशस्त्र बलों की ताकत, हमारे राज्यों की सांस्कृतिक विविधता और हमारे नागरिकों की उपलब्धियों को प्रदर्शित करने वाली परेड देख रहे हैं, तो आइए याद रखें कि हमारे गणतंत्र की असली ताकत इसके लोगों की एकता में निहित है। हमारी विविधता हमारी कमजोरी नहीं है; यह हमारी सबसे बड़ी संपत्ति है. विभिन्न संस्कृतियों, भाषाओं और परंपराओं का सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व ही भारत को अद्वितीय और लचीला बनाता है।

जैसा कि हम अपने राष्ट्र की प्रगति और विकास का जश्न मनाते हैं, आइए हम आगे आने वाली चुनौतियों के प्रति भी सचेत रहें। यह सुनिश्चित करना हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है कि हमारे संविधान में निहित सिद्धांतों को बरकरार रखा जाए, और न्याय, स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे के आदर्श केवल शब्द नहीं हैं बल्कि प्रत्येक नागरिक के लिए जीवंत वास्तविकताएं हैं।

इस गणतंत्र दिवस पर, आइए हम अपने दिलों में देशभक्ति की लौ फिर से जगाएं, अपने संविधान के आदर्शों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को नवीनीकृत करें और एक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करने का प्रयास करें जहां हर व्यक्ति सम्मान, स्वतंत्रता और समान अवसरों के साथ रह सके।

जय हिन्द!

Republic day speech
Republic day speech

Speech 7

Ladies and gentlemen, boys and girls,

Namaste! Today, we gather here to celebrate a very special day in our beautiful country – Republic Day! It’s a day when we remember the momentous occasion when India adopted its own constitution and became a sovereign, democratic republic.

Now, I know the word “constitution” might sound big and complicated, but let me tell you, it’s like a rulebook that helps everyone in our country live together happily and peacefully. Just like how we follow rules in our games to play fairly, the constitution helps us play the game of life in a fair and just way.

Imagine, if you were playing a game, and everyone had their own rules, it would be quite confusing, right? The constitution makes sure that everyone in India plays by the same fair rules. It’s like a big, colorful umbrella that keeps us all safe and happy.

Republic Day is a day to celebrate our unity in diversity. Our country is like a big, colorful garden with flowers of different shapes, sizes, and colors. Each flower is unique, just like each one of us, but together we make this garden of India even more beautiful.

On this day, we also remember the brave men and women who worked hard to make sure we have a country where we can all live, learn, and grow happily. They are our heroes, and we salute them.

So, my dear friends, let’s celebrate Republic Day with joy and pride. Let’s remember the importance of playing by the rules, respecting each other, and making our beautiful garden of India even more colorful and vibrant.

Jai Hind! Happy Republic Day!

Speech 8

देवियो और सज्जनो, लड़के और लड़कियाँ, नमस्ते! आज, हम अपने खूबसूरत देश में एक बहुत ही खास दिन – गणतंत्र दिवस मनाने के लिए यहां एकत्र हुए हैं! यह वह दिन है जब हम उस महत्वपूर्ण अवसर को याद करते हैं जब भारत ने अपना संविधान अपनाया और एक संप्रभु, लोकतांत्रिक गणराज्य बन गया। अब, मुझे पता है कि “संविधान” शब्द बड़ा और जटिल लग सकता है, लेकिन मैं आपको बता दूं, यह एक नियम पुस्तिका की तरह है जो हमारे देश में सभी को खुशी और शांति से रहने में मदद करती है। जिस तरह हम अपने खेलों में निष्पक्षता से खेलने के लिए नियमों का पालन करते हैं, उसी तरह संविधान हमें जीवन के खेल को निष्पक्ष और न्यायपूर्ण तरीके से खेलने में मदद करता है। कल्पना कीजिए, यदि आप कोई खेल खेल रहे हों, और हर किसी के अपने नियम हों, तो यह काफी भ्रमित करने वाला होगा, है ना? संविधान यह सुनिश्चित करता है कि भारत में सभी लोग समान निष्पक्ष नियमों के अनुसार खेलें। यह एक बड़ी, रंगीन छतरी की तरह है जो हम सभी को सुरक्षित और खुश रखती है। गणतंत्र दिवस हमारी विविधता में एकता का जश्न मनाने का दिन है। हमारा देश एक बड़े, रंगीन बगीचे की तरह है जिसमें विभिन्न आकार, आकार और रंगों के फूल हैं। प्रत्येक फूल अनोखा है, बिल्कुल हममें से हर एक की तरह, लेकिन साथ मिलकर हम भारत के इस बगीचे को और भी सुंदर बनाते हैं। इस दिन, हम उन बहादुर पुरुषों और महिलाओं को भी याद करते हैं जिन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत की कि हमारे पास एक ऐसा देश हो जहां हम सभी खुशी से रह सकें, सीख सकें और बढ़ सकें। वे हमारे नायक हैं और हम उन्हें सलाम करते हैं। तो, मेरे प्यारे दोस्तों, आइए गणतंत्र दिवस को खुशी और गर्व के साथ मनाएं। आइए नियमों के अनुसार खेलने, एक-दूसरे का सम्मान करने और अपने भारत के खूबसूरत बगीचे को और भी अधिक रंगीन और जीवंत बनाने के महत्व को याद रखें। जय हिन्द! गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *